Join the Conversation

1 Comment

  1. स्टॉक मार्केट निवेश के लिए आपको कम से कम कितने पैसे की जरुरत होगी ?
    स्टॉक मार्केट में निवेश की शुरुआत करने वाले नए निवेशक के मन में कई तरह के सवाल होते है, जिसमे एक प्रमुख सवाल है-
    उसके पास कम से कम कितने पैसे होने चाहिए, और क्या बैंक अकाउंट में मिनिमम बैलेंस की तरह क्या उसे स्टॉक मार्केट में भी एक मिनिमम अमाउंट जमा रखने की जरुरत है ?

    तो मै आपको इस बात के लिए निश्चिंत करता हु कि आपको स्टॉक मार्केट में निवेश के लिए ना ही किसी तरह के कम से कम पैसे की कोई लिमिट है, आप 50 रूपये 100 रूपये 500 रूपये, जो भी अमाउंट के शेयर खरीदना चाहे, खरीद सकते है, और किसी तरह के कम से कम पैसे की जरूरत हो, ऐसी कोई LIMIT नहीं है.

    आप स्टॉक मार्केट में निवेश करके लाभ कैसे कमाएंगे –

    तो यहाँ पर मै आपको बताना चाहूँगा कि – आप जिस कंपनी का स्टॉक खरीदते है, और जितनी मात्रा में खरीदते है, आप उतना पैसा उस कंपनी को पूंजी के रुप में दे रहे है, और आप उस कम्पनी के बिज़नस में अपने ख़रीदे गये शेयर की मात्रा के अनुसार उस कम्पनी द्वारा कमाए जाने वाले लाभ और हानि में हिस्सेदार/पार्टनर/मालिक बन जाते है,

    और जिस तरह किसी बिज़नस के मालिक को फायदा दो प्रमुख फायदा होता है, वही दोनों प्रमुख लाभ स्टॉक या शेयर खरीदने पर आपको भी मिलता है, अब ये दो लाभ कौन से है-

    किसी भी बिज़नस में दो प्रमुख लाभ होते है –

    कंपनी जो लाभ कमा रही है, और (Profit of Business)
    कंपनी की सम्पति के कुल मूल्य और पूंजी में होने वाली वृद्धि (Capital Appreciation)
    और ठीक इसी तरह से जब आप किसी कंपनी का स्टॉक या शेयर खरीदते है तो आपको ये दो लाभ मिलते है –

    लाभांश (Dividend income )
    कंपनी जो भी लाभ कमाती है, उस लाभ को कंपनी के शेयर खरीदने वाले शेयर धारक (SHARE HOLDER) में बराबर बराबर बाट दिया जाता है,

    और जब शेयर धारक को कंपनी से लाभ का हिस्सा मिलता है तो इसे लाभांश (DIVIDEND) कहा जाता है,

    जैसे – आपने XYZ कंपनी के 100 शेयर 100 रूपये के भाव से ख़रीदा, और कंपनी ने प्रति शेयर 2 रूपये का डिविडेंड देने का फैसला किया तो आपको जो लाभ मिलेगा, वो होगा
    आप चाहे तो कम्पनी का सिर्फ़ एक शेयर भी ख़रीद सकते हैं।

    100 शेयर X 2 प्रति शेयर लाभ = 200 रूपये,

    इस तरह आप डिविडेंड income को एक पैसिव income के रुपे में देख सकते है, क्योकि आप सिर्फ स्टॉक खरीदते और उसे अपने अकाउंट में जमा रखते है, आपको और कुछ नहीं करना होता है, और जैसे जैसे कंपनी प्रॉफिट कमाती है, वह आपको उसमे से आपका हिस्सा आपके बैंक खाते में जमा कर देती है, जो टैक्स फ्री income होता है,

    पूंजी में होने वाली वृद्धि (Capital Appreciation)
    कंपनी की पूंजी में होने वाली वृद्धि को आप कंपनी के स्टॉक या शेयर के भाव में होने वाले वृद्धि के रूप में समझ सकते है, और जैसे जैसे कंपनी की पूंजी बढती है, और उसकी लाभ कमाने की क्षमता और उसकी सम्पति बढती है, उसके कर्ज कम होते है, तो ऐसे में उस कंपनी के स्टॉक के भाव में वृद्धि होती रहती है, और आपने उस कंपनी का स्टॉक एक निश्चित मूल्य पर पहले ही लिया हुआ है, तो आप जब चाहे उस कंपनी के शेयर या स्टॉक बढे हुए मूल्य पर बेच कर लाभ कमा सकते है,
    जैसे – आपने XYZ कंपनी के 100 शेयर 100 रूपये के भाव से ख़रीदा, और कुल 100 X 100 यानी 10 हजार रुपये का निवेश किया और अब कंपनी बहुत अच्छा काम कर रही है और उसकी सम्पति और पूंजी में वृद्धि होने से से उसके शेयर के भाव में वृद्धि होती है,
    और लोग उस शेयर को ज्यादा से ज्यादा खरीदना चाहते है, और उस शेयर का डिमांड बढ़ने से कमपनी के शेयर का भाव 1 साल में 200 रूपये चला जाता है,
    और ऐसे में आप भी चाहते है कि कंपनी के शेयर प्राइस में वृद्धि का लाभ आपको भी मिले तो, आपने जो 100 शेयर 100 रूपये के भाव से ख़रीदा था, उसे बेच देते है, तो आपको जो लाभ मिलेगा, वो होगा
    आप चाहे तो कम्पनी का सिर्फ़ एक शेयर भी ख़रीद सकते हैं।

    100 शेयर X 200 प्रति शेयर = 20,000 रूपये, आज की कुल कीमत,
    और आपने कुल 10 हजार रुपए का निवेश किया था, जिसके बदले आज आपको मिल रहा है 20 हजार,

    इस तरह आपको लाभ होगा – 20 हजार -10 हजार = 10 हजार रूपये

    अभी मुफ़्त अकाउंट ओपन करने के लिए, नीचे दिया बटन दबाएँ

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *